पढ़ाई और जीवन में क्या अंतर है? स्कूल में आप को पाठ सिखाते हैं और फिर परीक्षा लेते हैं. जीवन में पहले परीक्षा होती है और फिर सबक सिखने को मिलता है. - टॉम बोडेट

Tuesday, September 7, 2010

आरटीआई कार्यकर्ता अमित जेठवा हत्याकांड में भाजपा सांसद का भतीजा गिरफ्तार


आरटीआई कार्यकर्ता अमित जेठवा की हत्या के सिलसिले में पुलिस ने भाजपा सांसद दीनू सोलंकी के भतीजे शिवा सोलंकी को राजकोट हवाई अड्डे के पास से गिरफ्तार किया गया है। दीनू सोलंकी जूनागढ से भाजपा सांसद हैं।

उल्लेखनीय है कि आरटीआई कार्यकर्ता अमित जेठवा ने गिर के जंगलों में हो रहे अवैध खनन के खिलाफ उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर की थी। इसके कुछ समय बाद ही 20 जुलाई को मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने गुजरात उच्च न्यायालय के नजदीक जेठवा की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

सूत्रों के मुताबिक इस हत्याकांड में गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ के दौरान शिवा सोलंकी का नाम लिया था। अमित की हत्या के बाद ही उनके पिता भीकाभाई जेठवा ने जूनागढ़ से सांसद दीनू सोलंकी पर अपने बेटे की हत्या का आरोप लगाया था।

2 टिप्पणियाँ:

पी.सी.गोदियाल said...

वाह, खबर पेश करने का अन्दाज निम्नस्तरीय और प्रभावी था !

रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" said...

जब-जब हमारे देश में किसी भी ईमानदार व्यक्ति ने भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाई हैं, तब-तब उसका ईमान खरीदने की कोशिश की जाती है.अगर उसका ईमान नहीं खरीद पाते हैं तब भ्रष्टाचारियों के हाथों यूँ ही मारे जाते हैं. मेरी भी इसे ही किसी एक दिन भ्रष्टाचारी के हाथों मौत होनी है क्योंकि मैं किसी भी को रिश्वत नहीं देने वाला. इसलिए अपनी मौत के सन्दर्भ में अर्ज है:-
"खुदा ने पूछा बोल कैसी चाहता है अपनी मौत,
दुश्मन की आँखें झलक आये ऐसी चाहता हूँ मौत."

"मौत ने पूछा कि-

मैं आऊंगी तो स्वागत करोंगे कैसे,

राहों में फूल बिछाकर पूछूँगा,

आने में देर इतनी करी कैसे"

आम आदमियों की परेशानियों को लेकर क़ानूनी समाचारों पर बेबाक टिप्पणियाँ (2 ) पढ़ें. उच्चतम व दिल्ली उच्च न्यायालय को भेजें बहुमूल्य सुझाव पर अपने विचार प्रकट करने हेतु मेरा ब्लॉग http://rksirfiraa.blogspot.com & http://sirfiraa.blogspot.com देखें. अच्छी या बुरी टिप्पणियाँ आप करें और अपने दोस्तों को भी करने के लिए कहे.अपने बहूमूल्य सुझाव व शिकायतें अवश्य भेजकर मेरा मार्गदर्शन करें.

# निष्पक्ष, निडर, अपराध विरोधी व आजाद विचारधारा वाला प्रकाशक, मुद्रक, संपादक, स्वतंत्र पत्रकार, कवि व लेखक रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" फ़ोन: 09868262751, 09910350461 email: sirfiraa@gmail.com, महत्वपूर्ण संदेश-समय की मांग, हिंदी में काम. हिंदी के प्रयोग में संकोच कैसा,यह हमारी अपनी भाषा है. हिंदी में काम करके,राष्ट्र का सम्मान करें.हिन्दी का खूब प्रयोग करे. इससे हमारे देश की शान होती है. नेत्रदान महादान आज ही करें. आपके द्वारा किया रक्तदान किसी की जान बचा सकता है.